Connect with us

Uncategorized

जिलाधिकारी नवनीत पांडे की अध्यक्षता में प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना की जनपद चयन समिति की बैठक संपन्न हुई

चम्पावत13दिसंबर

जिलाधिकारी नवनीत पांडे की अध्यक्षता में प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना की जनपद चयन समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक के दौरान महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र दीपक मुरारी ने अवगत कराया कि प्रधानमंत्री विश्वकर्म योजना 17 सितंबर, 2023 को केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गयी है। जिसका उद्देश्य अपने हाथों और औजारों की मदद से काम करने वाले कारीगरों और शिल्पकारों को शुरू से अंत तक सहायता प्रदान करना है। इस योजना अंतर्गत में 18 व्यवसायों जैसे बढ़ई, नाव निर्माता, कवचधारी, लोहार, हथौड़ा और टूल किट निर्माता, ताला बनाने वाला, सोनार, कुम्हार, मूर्तिकार (मूर्तिकार, पत्थर तराशने वाला)/पत्थर तोड़ने वाला, मोची/जूता कारीगर, राजमिस्त्री, टोकरी/चटाई/झाड़ू निर्माता/कॉयर बुनकर, (पारम्परिक) गुड़िया और खिलौना निर्माता, नाई, माला बनाने वाला, धोबी, दर्जी, और मछली पकड़ने का जाल निर्माण में लगे कारीगरों और शिल्पकारों को शामिल किया गया है। इस योजना के तहत कारीगरों और शिल्पकारों को लाभ प्रदान करने की व्यवस्था की गई है। पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत उक्त 18 पारंपरिक पेशों से जुड़े कारीगरों का चयन कर पांच से सात दिन का प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान पांच सौ रुपये प्रतिदिन भत्ता, प्रशिक्षण के बाद टूलकिट की खरीद के लिए पंद्रह हजार रुपये और पांच प्रतिशत की ब्याज दर पर दो किश्तों में तीन लाख रुपये का गारंटी मुक्त ऋण दिया जाएगा। महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र ने बताया कि प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना पात्रता के लिए पंजीकरण की तिथि पर न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए, लाभार्थी द्वारा समान क्रेडिट आधारित स्वरोजगार/ व्यवसाय विकास योजनाओं के तहत पूर्व से ऋण नहीं लिया होना चाहिए। पिछले 5 वर्षों में भारत सरकार या राज्य की किसी भी योजना यथा पीएमईजीपी, पीएम स्वनिधि, मुद्रा आदि का लाभार्थी ना हो, परंतु पीएम स्वनिधि एवं मुद्रा योजना के लाभार्थी द्वारा यदि ऋण चुकता कर दिया गया है तो वह व्यक्ति पात्र होगा। पंजीकरण और लाभ परिवार के केवल एक सदस्य तक ही सीमित रहेंगे। सरकारी सेवा में कार्यरत व्यक्ति और उसके परिवार के सदस्य को पत्र सदस्य पत्र नहीं होंगे। उन्होंने बताया कि इस योजनांतर्गत जनपद में वर्तमान तक 281 व्यक्तियों/ लाभार्थियों द्वारा ऑनलाइन आवेदन किए गए हैं। जिनमे से 49 आवेदन ऐसे थे जिन्हें सम्बंधित ग्राम प्रधान द्वारा अपने स्तर से अग्रसारित किए गए थे इन सभी 49 आवेदनों को जिला चयन समिति द्वारा स्वीकृति प्रदान की गई हैं।
बैठक में अवगत कराया कि आवेदनों को संबंधित लाभार्थी के ग्राम प्रधान (ग्रामीण क्षेत्र हेतु) तथा अधिशासी अधिकारी (नगर पालिका शहरी क्षेत्र हेतु) द्वारा अग्रसारित किया जाना अनिवार्य होता है। जिस हेतु प्रधानमंत्री विश्वकर्म योजना के पोर्टल पर प्रत्येक ग्राम प्रधान का पंजीकरण होना नितांत आवश्यक है। वर्तमान तक जिले में 313 में से 49 ग्राम प्रधानों के द्वारा ही पीएम विश्वकर्मा में अपना पंजीकरण कराया गया है, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा नाराजगी व्यक्त करते हुए महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र, जिला स्वान प्रभारी तथा ई डिस्टिक मैनेजर को निर्देश दिए की सभी सीएससी केंद्रों को निर्देश जारी कर जिले के सभी ग्राम प्रधानों का पीएम विश्वकर्मा में अवश्य की पंजीकरण हेतु कैंप आयोजित काराये जाय। साथ ही सभी नगर निकाय के अधिशासी अधिकारी को भी 7 दिन के भीतर पंजीकरण करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी द्वारा जिले के सभी ग्राम प्रधानों से अपील की गई है कि वह पीएम विश्वकर्मा में 15 दिन के भीतर अवश्य ही अपना पंजीकरण करा लें, ताकि जिले के ऐसे लाभार्थियों को योजना का लाभ मिल सके। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को भी इस योजना का प्रचार प्रसार ग्राम पंचायत विकास अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी तथा फील्ड के कार्मिको से कराए जाने हेतु निर्देशित किया। बैठक में जिलाधिकारी ने महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र, जिला पंचायत राज अधिकारी व समस्त अधिशासी अधिकारी को निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के अंतर्गत चयनित व्यवसाय हेतु जिले में जितने भी पात्र व्यक्ति है, उनका सर्वे करते हुए उनका पंजीकरण अवश्य काराये। साथ ही सर्वे के दौरान लोगों को योजना के बारे में भी जानकारी उपलब्ध कराई जाए। जिलाधिकारी ने कहा की जानकारी का अभाव होने के कारण ही पात्र व्यक्ति योजना का लाभ नहीं ले पा रहे है। इस हेतु योजना का वृहद प्रचार प्रसार कराया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि भारत सरकार की यह एक महत्वपूर्ण योजना है जानकारी के अभाव में लोग इस योजना का लाभ लेने से वंचित न रहे इस हेतु संबंधित विभाग गंभीरता पूर्वक कार्य करें। किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिए कि गांव में सस्ता गल्ला विक्रेताओं को लैपटॉप सीएससी उपलब्ध कराए गए हैं, उनके माध्यम से सभी पात्र व्यक्तियों, ग्राम प्रधानों का ऑनलाइन पंजीकरण कराना सुनिश्चित करें। इस हेतु स्वान प्रभारी अपने स्तर से भी उनकी सहायता करें। बैठक में ई डिस्टिक मैनेजर ने बताया कि जिले में 235 सीएससी आईडी सस्ता गल्ला विक्रेताओं को उपलब्ध कराई गई हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना में जिले के प्रत्येक ग्राम प्रधान का पंजीकरण आवश्यक है। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि वह प्रत्येक दिन इसकी मॉनिटरिंग करें। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी संजय कुमार सिंह, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र दीपक मुरारी, लीड बैंक अधिकारी अमर सिंह ग्वाल, जिला पंचायत राज अधिकारी रामपाल सिंह, खादी ग्राम उद्योग बोर्ड हल्द्वानी से एससी कांडपाल, सदस्य जिला ग्राम प्रधान संगठन अध्यक्ष मनोज तड़ागी सहित सभी अधिशासी अधिकारी नगर पालिका आदि उपस्थित रहे।

Ad
यह भी पढ़ें -  बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय, विधि विधान के साथ निकाला गया मुहूर्त

More in Uncategorized

Trending News