Connect with us

उत्तराखण्ड

अंकित का नासा (NASA) में इस पद के लिए हुआ चयन,


नैनीताल के अंकित जोशी का नासा में एशिया समन्वयक के पद पर चयन हुआ है। वह इससे पूर्व भी कई स्थानों पर आपदा प्रबंधन एवं जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में वैज्ञानिक के रूप में कार्य कर चुके हैं। अब वह सर्विर साइंस कोओर्डिनेशन ऑफिस के कोर मेंबर के रूप में सेवाएं प्रदान करेंगे।

मूल रूप से रानीखेत निवासी अंकित को बचपन से ही अंतरिक्ष को लेकर खासी रुचि थी। नैनीताल में बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि उनकी प्रारंभिक शिक्षा शेरवुड कॉलेज नैनीताल से हुई है। उन्होंने सिंगापुर समेत डेनमार्क में अपनी पढ़ाई पूरी की। वह 2021 से लगातार सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि वह नासा मार्शल स्पेस फ्लाइट सेंटर के हिंदुकुश और दक्षिण पूर्वी एशिया के लिए नासा द्वारा उपग्रह से प्राप्त सूचनाओं के आधार पर जलवायु परिवर्तन, कृषि, भू-उपयोग और पारिस्थिकीय विषयों पर निर्णय लेने के लिए संबधित देशों को सहायता प्रदान करने का कार्य करेंगे।

वह नेपाल स्थित अंतरराष्ट्रीय संस्था आईसीमोड और बैंकाक के एशियन प्रीपेयरर्डनेस सेंटर के क्रिया कलापों का भी पर्यवेक्षण करेंगे। कहा कि सर्विर अमेरिका की नासा और अमेरिका की अंतरराष्ट्रीय विकास संस्था (यूएसऐड) का संयुक्त उपक्रम है। बताया कि उन्हें अंतरराष्ट्रीय विकास के क्षेत्र में कार्यक्रम प्रशासन, जलवायु परिवर्तन, आपदा प्रबंधन व सतत विकास आदि के कार्यों का 11 वर्ष का अनुभव है। वह अब सर्विर के एशिया के बैंकाक स्थित कार्यालय में सेवा प्रदान कर रहे हैं। अंकित ने नेहरू पर्यावरण संस्थान उत्तरकाशी से पर्वतारोहण का प्रशिक्षण प्राप्त किया है, और 18 हजार से अधिक ऊंचाई वाली चोटियों पर फतह किया है। उन्हें पर्वताराहण करने का शौक भी है। उनकी पत्नी प्रीतिका नैनीताल के प्रसिद्ध फोटोग्राफर पदमश्री अनूप साह की पुत्री हैं।

यह भी पढ़ें -  Loksabha Election 2024 : क्या उत्तराखंड में चलेगा प्रियंका गांधी का जादू ?

Ad Ad Ad Ad Ad Ad

More in उत्तराखण्ड

Trending News