Connect with us

Uncategorized

अखिल भारतीय प्रदर्शन के बैनर के तले अन्य राज्यों की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के साथ धरना प्रदर्शन

देहरादून – उतराखंड राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की प्रदेश अध्यक्ष सुसीला खत्री के प्रदेश शिष्टमंडल 11दिसंबर दिल्ली जंतर-मंतर में अखिल भारतीय प्रदर्शन के बैनर के तले अन्य राज्यों की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के साथ धरना प्रदर्शन में प्रतिभाग करेंगे इससे पहले चार अक्टूबर को अखिल भारतीय आगनबाडी कर्मचारी देहरादून -उतराखंड राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की प्रदेश अध्यक्ष सुसीला खत्री के प्रदेश शिष्टमंडल

11दिसंबर दिल्ली जंतर-मंतर में अखिल भारतीय प्रदर्शन के बैनर के तले अन्य राज्यों की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के साथ धरना प्रदर्शन में प्रतिभाग करेंगे इससे पहले चार अक्टूबर को अखिल भारतीय आंगनबाड़ी कर्मचारी क्रति समिति के नेतृत्व में उत्तराखंड राज्य आंगनबाड़ी संघ की आंगनबाड़ी कार्यकर्तियो ने बिशाल धरना प्रदर्शन करके केन्द्र सरकार ज्ञापन सौंपकर अपनी बिभिन मांगो के लिए अवगत कराया। अपनी बिभिन मांगो के निराकरण हेतु दिसंबर तक समय दिया था लेकिन अभी केन्द्र सरकार की तरफ से कोई सकारात्मक सुझाव नहीं मिलने से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों में काफी रोश है। इसलिए 11दिसबर को दिल्ली जंतर-मंतर में 12बजे अखिल भारतीय प्रदर्शन के बैनर के तले अपनी बिभिन मांगो के लिए धरना प्रदर्शन उत्तराखंड के अलग-अलग जिलों से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां जाने की तैयारी जोर जोर से चल रही है। उत्तराखंड राज्य आंगनबाड़ी संघ की प्रदेश अध्यक्ष सुसीला खत्री ने बताया उत्तराखंड राज्य में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को 525 0से9300रुपये मिलता है। अन्य राज्यों में 10हजार से 15हजार मानदेय मिलता है तो उत्तराखंड में सौतेले व्यवहार क्यों जा रहा जैसे अन्य राज्यों की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को मानदेय दिया जा रहा है। ऐसे ही उत्तराखंड राज्य की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को भी देना चाहिए। खत्री ने बताया दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, कर्नाटक,केरल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु आदि राज्यों में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को10हजार से पंद्रह हजार रुपए मानदेय दिया जा रहा है। हमारे उत्तराखंड में 5250से 9300रुपये इसमें सबसे ज्यादा शोषण मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का हो रहा। नेतृत्व में उत्तराखंड राज्य आंगनबाड़ी संघ की आंगनबाड़ी कार्यकर्तियो ने बिशाल धरना प्रदर्शन करके केन्द्र सरकार ज्ञापन सौंपकर अपनी बिभिन मांगो के लिए अवगत कराया। अपनी बिभिन मांगो के निराकरण हेतु दिसंबर तक समय दिया था लेकिन अभी केन्द्र सरकार की तरफ से कोई सकारात्मक सुझाव नहीं मिलने से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों में काफी रोश है। इसलिए 11दिसबर को दिल्ली जंतर-मंतर में 12बजे अखिल भारतीय प्रदर्शन के बैनर के तले अपनी बिभिन मांगो के लिए धरना प्रदर्शन उत्तराखंड के अलग-अलग जिलों से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां जाने की तैयारी जोर जोर से चल रही है। उत्तराखंड राज्य आंगनबाड़ी संघ की प्रदेश अध्यक्ष सुसीला खत्री ने बताया उत्तराखंड राज्य में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को 525 0से9300रुपये मिलता है। अन्य राज्यों में 10हजार से 15हजार मानदेय मिलता है तो उत्तराखंड में सौतेले व्यवहार क्यों जा रहा जैसे अन्य राज्यों की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को मानदेय दिया जा रहा है। ऐसे ही उत्तराखंड राज्य की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को भी देना चाहिए। खत्री ने बताया दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, कर्नाटक,केरल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु आदि राज्यों में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को10हजार से पंद्रह हजा तोर रुपए मानदेय दिया जा रहा है। हमारे उत्तराखंड में 5250से 9300रुपये इसमें सबसे ज्यादा शोषण मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का हो रहा।

यह भी पढ़ें -  ज्ञान, विज्ञान एवं संस्कारवान युवा ही देश के रीढ़ की हड्डी है: जोशी

More in Uncategorized

Trending News