Connect with us

Uncategorized

देहरादून में डेंगू-चिकनगुनिया फैलाने वाले मच्छरों पर सिस्टम ‘मेहरबान’, हाल देख आप भी कहेंगे ‘हाय राम’

देहरादून: गर्मी बढ़ने के साथ दून में मच्छर भी सक्रिय हो गए हैं। वहीं, अस्पतालों में भी डेंगू-चिकनगुनिया के संदिग्ध मरीज बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं। हालांकि, अभी तक डेंगू की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन वेक्टर जनित रोग के मरीज आने लगे हैं। ऐसे में सिस्टम की सुस्ती इस बार भी भारी पड़ सकती है।

अब तक शहर में डेंगू-चिकनगुनिया फैलाने वाले मच्छरों की रोकथाम के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। नगर निगम की फागिंग भी कुछ मुख्य मार्गों तक ही सीमित नजर आ रही है। बीते वर्ष शहर में डेंगू ने व्यवस्थाओं की पोल खोल दी थी। ऐसे में इस बार भी सिस्टम की लापरवाही भारी पड़ सकती है।
गर्मी बढ़ने के साथ ही मच्छर सक्रिय हो गए
नगर निगम की ओर से समय पर एहतियाती कदम उठाते हुए शहर में बीते एक अप्रैल से फागिंग शुरू किए जाने का दावा किया जा रहा है। हालांकि, अभी तक न तो निगम की फागिंग नजर आई है और न ही कहीं लार्वीसाइड का छिड़काव दिख रहा है। जबकि, गर्मी बढ़ने के साथ ही मच्छर सक्रिय हो गए हैं और गली-मोहल्लों में अभी से मच्छर परेशान कर रहे हैं।

नगर आयुक्त की ओर से दो सप्ताह पूर्व ही स्वास्थ्य अनुभाग को डेंगू की रोकथाम के लिए सभी प्रभावी कदम उठाने और वर्षाकाल में लार्वा न पनपने देने के निर्देश दे दिए थे। जिसके बाद नगर निगम का दावा है कि एक अप्रैल से सघन आबादी क्षेत्रों में फागिंग शुरू भी कर दी गई। सफाई सुपरवाइजरों को वार्डवार फागिंग की जिम्मेदारी दी गई है।

यह भी पढ़ें -  SSP ने शांतिपूर्ण मतगणना में सुरक्षा बलों को किया ब्रीफ, विशेष सतर्कता बरतने मतगणना सकुशल सम्पन्न कराये जाने के दिए निर्देश

धरातल पर नजर नहीं आ रहे निगम के दावे
साथ ही अनुबंधित कंपनी से समय पर सभी संसाधन उपलब्ध कराने को कहा गया है। फागिंग मशीनें भी रिपेयर करा दी गई हैं। हालांकि, निगम के दावे धरातल पर नजर नहीं आ रहे हैं।

जबकि, बीते वर्ष नगर निगम की ओर से जून में फागिंग शुरू की गई थी, तब जुलाई में बड़ी संख्या में डेंगू के मामले आने लगे थे और अगस्त-सितंबर में स्थिति बेहद गंभीर हो गई थी। नगर निगम में इन दिनों कई वार्डों से फागिंग व लार्वीसाइड का छिड़काव न होने की शिकायत मिल रही हैं।

कालोनियों में नालियों की सफाई पर भी ध्यान नहीं
देहरादून: शहर के गली-मोहल्लों में छोटी-बड़ी नालियां गंदे पानी से अटी पड़ीं हैं और कोई सुधलेवा नहीं। क्षेत्रवासी नगर निगम को लगातार शिकायत कर रहे हैं, लेकिन कोई निगम की नींद अभी नहीं टूट रही है। शहर की ज्यादातर घनी कालोनियों में सफाई व्यवस्था पटरी से उतरी हुई है।

नालियों में पानी और कूड़ा जमा है। गर्मी बढ़ने के साथ ही नालियों से उठ रही दुर्गंध से लोग परेशान हैं और मच्छर भी फैल रहे हैं। कई कालोनियों से निगम को चोक नालियां खोलने और सफाई करने की शिकायतें मिल रही हैं। छोटी-बड़ी नालियों की सफाई न होने से घरों के आसपास तेजी से मच्छर पनप रहे हैं

More in Uncategorized

Trending News